Saturday , 31 July 2021
Home » aamvat » बदन दर्द और जोड़ों का दर्द हमेशा के लिए दूर हो जाएगा, बस करें यह आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

बदन दर्द और जोड़ों का दर्द हमेशा के लिए दूर हो जाएगा, बस करें यह आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

बदन दर्द और जोड़ों का दर्द हमेशा के लिए दूर हो जाएगा, बस करें यह जबरदस्त आयुर्वेदिक घरेलू उपाय-

बदन दर्द मांसपेशियों में अकड़न के कारण हो सकता है। इसका जल्द से जल्द इलाज होना जरूरी है वरना इसका प्रभाव हमारे रोजमर्रा के कार्यो पर पड़ने लगता है। अगर आप भी इस दर्द से परेशान है तो इसे दूर करने के लिए जानिए कुछ घरेलू उपाय। घरेलू उपचार जानने के लिए इस लेख को पूरा पढे।

  • अदरक घरेलू उपाय में बेहद प्रभावशाली मानी गई है। इसके अंदर सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं ऐसे में यह शरीर में दर्द और सूजन को कम करने में मददगार है। यह रक्त प्रभाव और परिसंचरण की सेहत में सुधार लाने मे मदद्रूप साबित होती है। साथ ही अदरक की चाय का अगर नाश्ते में सेवन किया जाए तो ये मांसपेशियों में हो रहे दर्द को कम कर सकती है।
  • इसके इस्तेमाल के लिए सबसे पहले अदरक को पीस लें और एक कपड़े में बांध लें। उसको गर्म पानी में कुछ वक्त के लिए डालें और ठंडा होने के बाद प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। ऐसा करने से बदन दर्द दूर हो जाता है। बदन दर्द होने पर हल्‍दी वाला दूध मददगार होता है।
  • लैवेंडर से आपको कई सारे फायदे होते हैं, वहीं ये बॉडी को भी बहुत फायदा पहुंचाता है। लैवेंडर में ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो दर्द और सूजन को कम करने में मदद करते है। लैवेंडर के तेल की मालिश करने से शरीर का दर्द कम किया जा सकता है। इसका इस्तेमाल नहाने के समय पानी में डालकर भी किया जाता है।
  • सेंधा नमक को प्राकृतिक उपचार के रूप में देखा जाता है। यह मांसपेशियों की सूजन को दूर करने में बेहद मददगार है। साथ ही मांसपेशियों के दर्द में भी ये छुटकारा दिलाता है। ऐसे में एक बाल्टी या टब में गर्म पानी और दो चम्मच सेंधा नमक डालें और उस टब में बैठ जाए या फिर उस पानी को अपने बदन पर डालें। पंदरा से तीस मिनट तक उस पानी से अपने बदन को भिगाएं रखें। सेंधा नमक के स्नान से मांसपेशियों का दर्द दूर होता है।
  • लाल मिर्च के अंदर सूजनरोधी गुण मौजूद होते हैं जो मांसपेशियों के दर्द को ठीक करने के साथ-साथ सूजन और अकड़न को भी दूर करते हैं ऐसे में लाल मिर्च को जैतून के तेल के साथ मिलाएं और प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। फिर उस क्षेत्र को कपड़े से बांध लें। रात भर इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें और सुबह कपड़े को खोल कर उस क्षेत्र को सादे पानी से अच्छे से धोएं। इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो से तीन बार दोहराएं।
  • चेरी आपके शरीर को पोटैशियम और मैग्नीशियम देने में मदद करती है। ये जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस को दूर रखती है। पोटैशियम सूजन को दूर करता है और मैग्नीशियम प्राकृतिक पैन किलर की तरह काम करता है। कुछ महीनो के लिए चेरी के जूस को पिए या रोज़ाना आठ से दस चेरी खाने से राहत मिलती है।
  • केले के अंदर पोटेशियम होता है जो न केवल मांसपेशियों को स्वस्थ बनाता है बल्कि शरीर में मजबूती भी बनाए रखने मे मदद करता है। ऐसे में थकान को दूर करने और अकड़न में राहत पहुंचाने में केला मददगार है। पोटेशियम के सेवन से मांसपेशियों की कमजोरी दूर होती है। ऐसे में आहार में केले को शामिल करें। ऐसा करने से आपके शरीर को पोटेशियम और कैल्शियम दोनों महत्वपूर्ण तत्व मिल जाएंगे।
  • जिन लोगों को बदन दर्द की समस्या है वह सरसों के तेल के उपयोग से अपने रक्त के प्रभाव को बढ़ा सकते हैं और मांसपेशियों में आई अकड़न को ढ़ीला कर रक्त परिसंचरण में सुधार ला सकते हैं। इसके लिए आपको लहसुन की कली को काटना होगा और सरसों के तेल मैं उन टुकड़ों को डालकर मिलाना होगा।इसके बाद कपूर डालकर गैस पर रखकर कुछ समय तक गर्म करना होगा। अब बनें तेल को गैस से उतारें और ठंडा करें। ठंडा हो जाने के बाद प्रभावित क्षेत्र पर इस तेल से मसाज करने से आराम मिलता है। बदन दर्द होने पर आप बादाम के तेल से म‍ालिश ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status