Thursday , 22 November 2018
Home » Knowledge » दवाओ के दुष्प्रभाव को ख़त्म करने के घरेलु नुस्खे।

दवाओ के दुष्प्रभाव को ख़त्म करने के घरेलु नुस्खे।

दवाओ के दुष्प्रभाव को ख़त्म करने के घरेलु नुस्खे।

एलोपैथी के दुष्प्रभावो को आज सारा विश्व जान चुका हैं। देश ही नहीं बल्कि विदेश में भी आयुर्वेद को पूरा समर्थन मिल रहा हैं। एलोपैथी एक बीमारी के इलाज के साथ अनेक बीमारिया अपने साथ मेहमान के रूप में ले आती हैं। और कई बार तो एलोपैथी में इलाज समस्या से भी खतरनाक हो जाता हैं।

एलोपैथिक दवाओ के प्रयोग से शरीर में छाले, गर्मी, पैरो में जलन, पित्ती आदि हो जाती हैं। और इन दवाओ से जीवन रक्षा शक्ति भी कमज़ोर होती हैं। और शरीर में मित्र कीट नष्ट हो कर शरीर को रोगो का परमानेंट घर बना देती हैं ये दवाये। मगर आज कल के परिवेष में लोग इनके ग़ुलाम हो कर रह गए हैं। ऐसे में आप इन दुष्प्रभावो को ख़त्म करने के लिए ये घरेलु नुस्खे अपनाइये और शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति को बनाये रखे।

एंटी बायोटिक के दुष्प्रभाव।

मनुष्य की आंतो में किटाणुओ का निर्माण होता हैं जिनसे उसको स्वयं ही विटामिन मिल जाते हैं। मगर आज कल की अंधाधुन्द एंटीबायोटिक्स के इस्तेमाल से ये नष्ट होते हैं, और इस प्रकार शरीर का स्वयं का ये विटामिनो का स्त्रोत नष्ट होता हैं। अगर आप अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक का इस्तेमाल करते हैं तो आपकी आंतो पर पड़े इस दुष्प्रभाव को सही करने के लिए दही का ज़्यादा सेवन करे। और जो भी रोगी एंटीबायोटिक दवाये लेता हो उसको दही का ज़्यादा सेवन करवाना चाहिए।

कुनैन

कुनैन खाने से चक्कर आते हैं, कानो में आवाज़ आने लगती हैं, जी घबराता हैं। अगर मज़बूरी में कुनैन का सेवन करना पड़े तो इसका दुष्प्रभाव कम करने के लिए निम्बू का सेवन करे। निम्बू का सेवन कुनैन के दुष्प्रभावो को नष्ट कर देता हैं।

सल्फा ड्रग

सल्फा ड्रग के दुष्प्रभावो को भी निम्बू ख़त्म कर देता हैं।

एलोपैथिक दवाइयाँ

एलोपैथिक दवाओ के प्रयोग से शरीर में छाले, गर्मी, पैरो में जलन, पित्ती आदि हो जाती हैं। इनके दुष्प्रभावो को नष्ट करने के लिए आंवले का मुरब्बा, दोपहर में चार चम्मच गुलकंद कुछ दिन नित्य खाते रहने से ये दुष्प्रभाव नष्ट होते हैं।

दुष्प्रभाव मुक्ति के अन्य प्रयोग।

1.) गर्म दवाओ के सेवन से शरीर में गर्मी, जलन, चक्कर, जी मिचलाना, भूख में कमी हो जाती हैं। इन दुष्प्रभावो को ख़त्म करने के लिए सफ़ेद जीरा और मिश्री समान मात्रा में पीसकर मिलाकर दो चम्मच ठन्डे पानी से सुबह शाम फंकी ले।

2.) पिसा हुआ धनिया और मिश्री दोनों समान मात्रा में दो चम्मच सुबह शाम फंकी लेने से गर्म दवाओ के दुष्प्रभाव नष्ट होते हैं।

[Click here to read. लिपस्टिक सेहत के लिए हैं बहुत खतरनाक।]

 

8 comments

  1. I want to about how to increase the speaking Power of 2.5 year bou child due he is unable to speak. As per doctor says he has suffered in ithusim(hyper activities). Pls give any solution.

  2. I have ayurvedic medicine company I am trader of medican

  3. Hu to remove the 17 mm gall bladder stone…

  4. kaan dard ka liy kay ha jo pina hota ha daba ky ha

  5. hame khana rahehai sakti nahi deti hai khana pach nahi jaise sad rahaho pachaneka upaiya batai jisse hame tagat /sakti mile

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status