Wednesday , 19 September 2018
Home » आयुर्वेद » अगरु (Agru)- पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

अगरु (Agru)- पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

आज हम आपको अगरु (Agru) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि.

अगरु (Agru) का वानस्पतिक नाम: Aquilaria Malaccensis Lam.

Syn- Aquilaria Agallocha Roxb. rx DC

कुल – Thymelaeaceae

English Name – Eagle Wood

संस्कृत – अगरु (Agru), कृमिजग्ध , प्रवर, लोः, राजह्र, योगराज, वंशिक, क्रमीज, अनार्यक,   

हिंदी – अगर, उद,  

असमिया- ससी (Sasi)

उर्दू- अगर (Agar)

कन्नड़- अगरु (Agru), 

गुजरती- अगर (Agar) 

तमिल- अग्गालिचंद्नाम (Aggalichandanam), 

तेलगु- अगरु (Agru), 

बंगाली- अग्गर, (Aggar), अगरु (Agru), उगर  (Ugar),

पंजाबी- पंवार (Panwar), चकुंदा (Chakunda),

 

मराठी- अगर (Agar),  

मलयालम- कायागाहरू (Kayagahru), 

अंग्रेजी- Agar Wood, Aloe Wood, Agallochum, 

अरबी- उद ए गर्की (Ood E Garki), अगरे हिन्दी  (Agre Hindi)

फारसी – अगर, (agar), उद ए हिन्दी (Ood E Hindi)

अगरु (Agru) के बारे में परिचय , एवं औषधीय परयोग और विधि निचे दी गई फोटो को देख कर जाने .

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status