Tuesday , 11 August 2020
Home » आयुर्वेद » अतीस (Aconite) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

अतीस (Aconite) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

[ads4]

आज हम आपको अतीस (Aconite) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि.

अतीस (Aconite) का वानस्पतिक नाम: Aconitum heterophyllum Wall. ex Royle

Syn- Aconitum cordatum Royle

कुल – Ranunculaceae 

English Name – Indian Aconite

संस्कृत – शृङ्गक, अतिविषा, उपविषा, भृङ्गी, श्वेतकन्दा, श्यामकन्दा, संविषा, विरूप, गरल, विषा, घुणवल्लभा, 

प्रतिविषा, उग्र, वत्सनाभ

हिंदी – अतीस (Atish), अतिविख (Ativikh), 

उर्दू- अतीस  (Atis),

कन्नड़- अतिविषा (Ativisha), अतिबजे (Atibaje), अलसी (Alsi)

गुजरती- अतिवाखानी कलि (Ativakhani Kali)

तमिल- अतिविदायम (Atividaayam)   

तेलगु- अतिवासा (Ativasa), 

बंगाली- अताइच (Ataich)

नेपाली- विशा (Vishaa), बिख (Bikh) 

पंजाबी – चितिजारी (Chitijari), बोंगा (Bonga), पतीस (Patis)

मलयालम- अतिविषा (Ativishaa),  

मराठी- जवस (Jawas), अलसी (Alsi), 

अंग्रेजी- Atees Root, Indian Atees,  

अरबी- अतीस (Atis),   

फारसी – वाजे-तुर्की (Vajje-Turki), वज तुर्की (Vaj-Turki)

 

अतीस (Aconite) के बारे में परिचय , एवं औषधीय परयोग और विधि निचे दी गई फोटो को देख कर जाने.

[ads4]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status