Monday , 19 November 2018
Home » आयुर्वेद » अनानास (Pineapple) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

अनानास (Pineapple) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

हम आज आपको अनानास (Pineapple) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि. 

अनानास (Pineapple) का वानस्पतिक नाम: Ananas Cosmosus (Linn.) Merr.

Syn- Ananas Stivus Schult. & Schult.f..

कुल – Bromeliaceae

English Name – Pineapple

संस्कृत – बहुनेत्रफाला  (Bahunetrafala), अनन्नास (Anannas ),

हिंदी – अनानास(Ananas), अनन्नास (Anannas)

उड़िया- सपुरी (Sapuri), सपुरिपनस (Sapuripanas), 

उर्दू – अनानास (Ananas), 

कन्नड़- अनान्नासुहन्नु (Anannasuhannu), 

कोकणी- अनेनेस (Anenes), 

गुजरती- अनन्नास (Anannas),  

तमिल- अनाशापालेम (Anashapaalaem),     

तेलगु- अनासाचेतु (Anasaachetu), अनानासपांडू (Ananaspandu), अनानाश (Ananash), 

बंगाली- अनारस (Anaaras), अनानाश (Ananash)

नेपाली- भुई कटहर  (Bhui Kathar),

मलयालम- कैथाचाक्का (Kaithachakka), कैताचाक्का (Kaitachakka)  

मराठी- अनन्नास (Anannas), 

अरबी- ऐनुन्नास (Ainunnaas), 

फारसी- अनोंनास (Anonaas)

अनानास (Pineapple)) के बारे में परिचय , एवं औषधीय परयोग और विधि निचे दी गई फोटो को देख कर जाने.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status