Monday , 21 September 2020
Home » आयुर्वेद » अनानास (Pineapple) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

अनानास (Pineapple) – पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग विधि

[ads4]

हम आज आपको अनानास (Pineapple) के बारे में विस्तार से बताने जा रहें हैं. आइये जाने इसकी पहचान, गुण धर्म, प्रयोग मात्रा एवं प्रयोग की विधि. 

अनानास (Pineapple) का वानस्पतिक नाम: Ananas Cosmosus (Linn.) Merr.

Syn- Ananas Stivus Schult. & Schult.f..

कुल – Bromeliaceae

English Name – Pineapple

संस्कृत – बहुनेत्रफाला  (Bahunetrafala), अनन्नास (Anannas ),

हिंदी – अनानास(Ananas), अनन्नास (Anannas)

उड़िया- सपुरी (Sapuri), सपुरिपनस (Sapuripanas), 

उर्दू – अनानास (Ananas), 

कन्नड़- अनान्नासुहन्नु (Anannasuhannu), 

कोकणी- अनेनेस (Anenes), 

गुजरती- अनन्नास (Anannas),  

तमिल- अनाशापालेम (Anashapaalaem),     

तेलगु- अनासाचेतु (Anasaachetu), अनानासपांडू (Ananaspandu), अनानाश (Ananash), 

बंगाली- अनारस (Anaaras), अनानाश (Ananash)

नेपाली- भुई कटहर  (Bhui Kathar),

मलयालम- कैथाचाक्का (Kaithachakka), कैताचाक्का (Kaitachakka)  

मराठी- अनन्नास (Anannas), 

अरबी- ऐनुन्नास (Ainunnaas), 

फारसी- अनोंनास (Anonaas)

अनानास (Pineapple)) के बारे में परिचय , एवं औषधीय परयोग और विधि निचे दी गई फोटो को देख कर जाने.

[ads4]

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status