Thursday , 19 July 2018
Home » फल » आंवला » आंवला – स्नायु संस्थान (मस्तिष्क) की कमज़ोरी में अमृत।

आंवला – स्नायु संस्थान (मस्तिष्क) की कमज़ोरी में अमृत।

आंवले के जूस के 7 फायदे

ख़राब कोलेस्ट्रॉल (LDL) को कम करना : अगर आप हाई कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित हैं तो सिर्फ एक ग्लास आंवले का जूस आपके लिये बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। जर्नल मेनोपॉज में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, आंवले के नियमित सेवन से ख़राब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम होती है और शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है। इसके अलावा ये ट्राईग्लीसेराइड लेवल को कम करके इंसुलिन रेजिस्टेंस को भी बढ़ा देते हैं।

बालों के लिये फायदेमंद : विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण आंवले के जूस का नियमित सेवन आपके बालों के लिये वरदान है। ये बालों को तेजी से बढ़ाने के अलावा उन्हें मजबूत और काला बनाये रखते हैं।

त्वचा के लिये फायदेमंद : आंवले में एंटी-आक्सीडेटिव क्षमताएं होने के कारण यह आपकी त्वचा को हमेशा यंग बनाये रखते हैं और बढती उम्र के प्रभावों को आपसे दूर रखते हैं।

सर्दी-जुकाम से राहत : आंवले में ऐसे कई औषधीय गुण होते हैं जिनसे यह आपको सर्दी जुकाम जैसी आम बीमारियों से लम्बे समय तक बचाये रखते हैं।

डायबिटीज को कंट्रोल करना : जर्नल फ़ूड एंड फंक्शन में 2004 में प्रकाशित एक शोध के अनुसार आंवले में गैलिक एसिड, गैलोटेनिन, एलैजिक एसिड और कोरिलैगिन पाये जाने और उनके एंटी-डायबिटिक क्षमताओं के कारण यह आपके ब्लड ग्लूकोज लेवल को कम करते हैं और आपके डायबिटीज को नियंत्रण में रखते हैं। इसलिए रोजाना जूस पीना न भूलें।

कैंसर से बचाव : आंवले में एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और इम्यूनोमॉड्यूलेटरी क्षमताएं होने के कारण इसके जूस का नियमित सेवन हमारे शरीर को कैंसर से बचाने में मदद करता है।

पौरुष लाइफ बेहतर बनाने में मददगार : आंवले में शक्तिवर्धक गुण पाये जाते हैं, साथ ही ये विटामिन सी के भी मुख्य स्रोत होते हैं जिस कारण ये पौरुष को बढ़ाने में मदद करता है। अंतरंग के दौरान आपकी क्षमता को भी बढ़ाने में मदद करते हैं जिससे आपकी लाइफ़ और बेहतर हो जाती है।

Increase Mind and memory Power With Anwla (Amla).

आंवले का मुरब्बा शीतल और तर होता हैं, आंवला नेत्रों के लिए हितकारी, रक शोधक, दाहशामक तथा हृदय, मस्तिष्क, यकृत, आंते, आमाशय को शक्ति प्रदान करने वाला होता हैं। इसके सेवन से स्मरण शक्ति तेज़ होती हैं। मानसिक एकाग्रता बढ़ती हैं। मानसिक दुर्लब्ता के कारण चक्कर आने की शिकायत दूर हो जाती हैं। सवेरे उठते ही सर दर्द और चक्कर आते हो तो इस से लाभ मिलता हैं।

आइये जाने इस मुरब्बे को घर पर बनाने का तरीका।

बनारसी आंवले का मुरब्बा एक नग अथवा नीचे लिखी विधि से बनाया गया 12 ग्राम (बच्चो के लिए आधी मात्रा) ले। प्रात खाली पेट खूब चबा चबा कर खाने और उसके एक घंट के बाद तक कुछ भी ना लेने से मस्तिष्क के ज्ञान तंतुओ को बल मिलता हैं। और स्नायु संस्थान शक्तिशाली बनता हैं।

विशेष –

गर्मी के मौसम में इसका सेवन अधिक लाभकारी हैं। इस मुरब्बे को यदि चांदी के वर्क में लपेट कर खाया जाए तो दाह, कमज़ोरी तथा चक्कर आने की शिकायत दूर हो जाती हैं। वैसे भी आंवले का मुरब्बा शीतल और तर होता हैं। और नेत्रों के लिए हितकारी, रक शोधक, दाहशामक तथा हृदय, मस्तिष्क, यकृत, आंते, आमाशय को शक्ति प्रदान करने वाला होता हैं। इसके सेवन से स्मरण शक्ति तेज़ होती हैं। मानसिक एकाग्रता बढ़ती हैं। मानसिक दुर्लब्ता के कारण चक्कर आने की शिकायत दूर हो जाती हैं। सवेरे उठते ही सर दर्द और चक्कर आते हो तो इस से लाभ मिलता हैं। आज कल शुद्ध चांदी के वर्क आसानी से नहीं मिलते। अत:नकली चांदी के वर्क का इस्तमाल करना अच्छा नही है। चाय-बिस्कुट की जगह इसका नाश्ता लेने से न केवल पेट ही साफ़ रहेगा बल्कि शारीरिक शक्ति, स्फूर्ति एवं कांति में भी वृद्धि होगी। निम्न विधि से निर्मित आंवला मुरब्बा को यदि गर्भवती स्त्री सेवन करे तो स्वयं भी स्वस्थ रहेगी और उसकी संतान भी स्वस्थ होगी। आंवले के मुरब्बे के सेवन से रंग भी निखरता हैं।

निषेध – मधुमेह के रोगी इसे ना ले।

आंवला मुरब्बा बनाने की सर्वोत्तम विधि –

500 ग्राम स्वच्छ हरे आंवले कद्दू कस कर के उनका गुद्दा किसी कांच के मर्तबान में डाल दे और गुठली निकाल कर फेंक दे। अब इस गुद्दे पर इतना शहद डाले के गुद्दा शहद में तर हो जाए। तत्पश्चात कांच के पात्र को ढक्कन से ढक कर उसे दस दिन तक रोज़ाना चार पांच घंटे धुप में रखे। इस प्रकार प्राकृतिक तरीके से मुरब्बा बन जाएगा। बस दो दिन बाद इसे खाने के काम में लाया जा सकता हैं। इस विधि से तैयार किया गया मुरब्बा स्वस्थ्य की दृष्टि से श्रेष्ठ हैं। क्युकी आग की बजाये सूर्य की किरणों से निर्मित होने के कारण इसके गुण धर्म नष्ट नहीं होते। और शहद में रखने से इसकी शक्ति बहुत बढ़ जाती हैं।

सेवन विधि –

प्रतिदिन प्रात: खाली पेट ९० ग्राम ( दो चम्मच भर ) मुरब्बा लगातार तीन-चार सपताह तक नाश्ते के रूप में ले, विशेषकर गर्मियों में। चाहे तो इसके लेने के पंद्रह मिनट बाद गुनगुना दूध भी पिया जा सकता है। चेत्र या क्वार मांस में इसका सेवन करना विशेष लाभप्रद है। 

ऐसा मुरब्बा विधार्थियो और दिमागी काम करने वालो की मस्तिष्क की शक्ति और कार्यक्षमता बढ़ाने और चिड़चिड़ापन दूर करने के लिए अमृत है। इससे विटामिन सी, ए, कैलशियम, लोहा का अनूठा संगम है। 100 ग्राम आंवले के गूदे में 720 मिलीग्राम विटामिन सी, 15 आइ. यू. विटामिन ए, 50 ग्राम कैल्शियम, 1.2 ग्राम लोहा पाया जाता है।

आंवला ही एक ऐसा फल है जिसे पकाने या सुखाने पर भी इसके विटामिन नष्ट नही होते।

यदि उपरोक्त विधि से मुरब्बा बनाना सम्भव न हो तो केवल हरे आंवले के बारीक़ दुकड़े करके या कद्दूकस करके शहद के साथ सेवन करना भी लाभप्रद है। इससे पुराने कब्ज व पेट के रोगो में भी अभूतपूर्व लाभ होता है।

स्रोत – स्वदेशी चिकित्सा सार। डॉक्टर अजित मेहता।

आपके नजदीकी Only Ayurved Dealer list और उनकी Location जहाँ से आप को उच्च गुणवत्ता वाला 100 % नेचुरल आँवला जूस और अन्य बीमारियाँ जैसे किडनी की समस्या, लीवर की समस्या , मधुमेह डायबिटीज, B.P , कोलेस्ट्रोल,ब्लोकेग, हार्ट प्रोब्लम,  कैंसर से संबधित 100% आयुर्वेदिक दवाये  मिल जायेंगी   .

 

बिहार

पटना – 7677551854, 7480099296

मुजफ्फरपुर – 7634950644

छत्तीसगढ़

बिलासपुर – 9584891808, 9926758959, 9300333438

रायपुर – 9644133772

असम

सिलचर – 9954000321

महाराष्ट्र

मालेगांव (नासिक) – डॉ. फरीद शेख 9860785490

धुले – 9860704470

नासिक – 9270928077

पुणे – 9209211786

अकोला – 7020579564

वर्धा – 9579997503

कल्याण – 8454050864

मलाड – 9967293444

घाटकोपर – 07738350032

बोरीवली – 9004316923

भंडारा – 9422174853

श्रीरामपुर (खंडाला) – 8888283393

औरंगाबाद – 8208266068

विरार – 9892967369

अमरावती – 9765332255

कर्नाटक – Karnataka

धारवाड़ (Dharwad) – 9844984103

बैंगलोर (Bangalore) – 7019098485

गुजरात

अहमदाबाद – 7874559407

द्वारिका – 9033790000

चिकली – 9427869061

अंकलेश्वर – भरूच – 8460090090

बड़ोदा – 9725245318

सूरत –  8866181846, 9879157588

भुज / मुंद्रा  – 9974576143

मध्यप्रदेश

भोपाल – 7987552689

इटारसी – 6260342004

ग्वालियर – 9009056000

उत्तर प्रदेश

मेरठ – 9871490307, 8449471767

हाथरस ( U. P. ) –  9997397043, 7017840020

मथुरा – 9259883028

अलीगढ – 9027021056

आगरा – 9358355545

कासगंज – 7409463111

फ़िरोज़ाबाद – 8445222786

मैनपुरी – 8449601801

इलाहाबाद – Dr. C.P. Singh – 9520303303

गोरखपुर – 9936404080

दिल्ली –  NCR

सराय कालें खां –  9015439622, 9871490307

सुभाष नगर – 9911006202

गाज़ियाबाद – 9719077555

Greater Noida – 9310299100

गुडगाँव – 9310330050

हरियाणा

हसनपुर पलवल – 9050272757

पानीपत – 9812126662

बाढ़डा ( चरखी दादरी ) – 9813210584

फ़रीदाबाद – 9315154682

चंडीगढ़ – 9877330702

पंजाब

मोगा – 9988009713

बठिंडा – 9779566697

कोट कपूरा – 9872320227

मलोट – 9877159004

मलेर कोटला – 9872439723

लुधियाणा – 9803772304

जालंधर – 9814832828

अमृतसर – 8872295800

होशियारपुर उड़मुड टांडा – 9803208718

गुरदासपुर – 9815483791

मोहाली – 09216411342

मुकेरियां – 9815296322

चंडीगढ़ – 9877330702

राजस्थान

जयपुर – 8290706173, 8005648255

जोधपुर – 8005724956

अजमेर – 7976779225

सिरोही – 9875238595

टोंक – 9509392472

अजीतगढ़ – 8005648255

संगरिया – 7597714736

हिमाचल प्रदेश

नालागढ़ – 9816022153

चिन्तपुरणी – 9816414561

डिस्ट्रीब्यूटर बनने के लिए आप निमिन्लिखित जगहों पर संपर्क कर सकते हैं.

राजस्थान – 8005648255

उत्तर प्रदेश – 7017840020

पंजाब – 9779566697

दिल्ली – 9871490307

गुजरात – 9033790000, 8866181846

महाराष्ट्र – 9860785490, मुंबई – 8454050864

छत्तीसगढ़ – 9584891808

मध्य प्रदेश  – 7987552689

हिमाचल प्रदेश – 9816022153

हरयाणा – 9315154682

इसके इलावा आप 7014016190 पर संपर्क कर सकते हैं

anwla juice, aanvla juice, amla juice, आँवला जूस, आँवला का जूस, आँवला रस, online aanvla juice, online amla juice, only ayurved aanvla juice , only ayurved amla juice

3 comments

  1. Please tell me something to strengthen muscles my muscles are weak

  2. Mene bhang ka Sevan kiya .usse meri body hilti rhti h .meri yaadast khatam hoti ja rhi h .mujhe bhulne ki bimari badti ja rhi h .mujhe Iska koi elaj batao

  3. I want to know wich compani is best about amla jus and tabtets?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status