Tuesday , 10 December 2019
Home » Health » पेट के रोग » IBS » अतिसार (दस्त) प्रवाहिका के लिए अनुभव किये नुस्खे.आजमाकर लाभ ले:

अतिसार (दस्त) प्रवाहिका के लिए अनुभव किये नुस्खे.आजमाकर लाभ ले:

अतिसार (दस्त) प्रवाहिका के लिए अनुभव किये नुस्खे.आजमाकर लाभ ले:

1.- दस्त –

दवा —- हिंग्वाष्टक चूर्ण 1-2 ग्राम ,शंख भस्म 2 रती ये एक खुराख  की मात्रा है इसे सुबह शाम पानी के साथ ले

दस्त बंध कर आने लगेंगे .

2.- दवा — शंख भस्म 2-3 रती की मात्रा में शहद संग लेते ही दस्त तुरंत बंद होते हे .

3.- बार -बार आने वाले दस्त ,पेट में ऐंठन ,टट्टी 1 बूंद आना –

दवा —- तालमखाना बीज आधा चम्मच ,दही 100 ग्राम ,थोडा सा सादा नमक मिला 10 मिनट रखने के बाद खा ले .

इसी प्रकार 3-4 घंटे बाद फिर से एक बार दे इससे बहुत लाभ होगा अनेक बार आजमाया हुआ है ,

4.- दस्तो का रामबाण –

दवा —- जायफल को कूट -पिस ले और 3 ग्राम की मात्रा  में पानी के साथ ले .एक ही मात्रा से दस्त बंद हो जायेंगे

कुछ मात्रा कम भी ले ले सकते है .

5 .-पानी की तरह दस्त –

दवा —- मेथरे (मेथा) को तवे पर कच्चा भुना कर ले .कही से भुना हुआ और कही कच्चा होना चाहिए इसे कूट

पिस कर चूर्ण बना ले और यह चूर्ण चोथाई चम्मच से थोडा कम लेकर डेड चम्मच दही में मिलाकर रोगी को खिला दे .

एक दो बार में ठीक हो जायेगा ,एक खुराख से ना मिटे तो दो घंटे बाद एक और दे दे .m,एथि बारीक़ होट है

और मेथा मोटा हो ता है .

6 .- सभी प्रकार के अतिसार में –

दवा — कूटजावलेह 10 -20 ग्राम मात्रा में चावल की मांड के साथ दिन में दो बार सेवन करे .

7 .- पतले दस्त आने पर –

दवा —- लवण भास्कर चूर्ण 1-2 चम्मच एक गिलास छाछ में घोल ले .तथा भोजन के साथ घूंट-घूंट करके पी ले .

8.- दस्त –

दवा —- संजीवनी वटी 1-2 गोली ,बेल की पत्तियों का रस 1 चम्मच व शहद आधी चम्मच मिलाकर दिन में

न -चार बार दे .इससे पेट में मरोड़ ,दर्द ,गुडगुडाह्त तीन खुराख में ही लाभ होगा .

9.- अतिसार –

दवा —- सोंफ 10 ग्राम ,मिश्री 5 ग्राम ,तुलसी के ताजा पते 10 नग लेवे .पहले सोंफ को थोड़े घी में तवे पर मंद -मंद

आंच पर भुने .और 300 ग्राम पानी को गरम करे .जब पानी गर्म हो जावे तब तुलसी के पत्ते डालकर उबाले अब उसमे

सोंफ भी डाल दे .आधा पानी शेष रहने और ठंडा कर मिश्री मिलाकर पिलाये .बहुत लाभ होगा .

10 .- दस्त कितने भी पतले या केसे भी हो या खुनी पशिच भी क्यों न हो  –

दवा —-  गुडहल के दो पत्ते चबाकर निगल जाये .ऊपर से दो -तीन  घूंट पानी पी सकते है यह दिन में केवल एक बार

ही ले और केवल दो दिन ही ले दस्त बंद हो जायेंगे केवल दो पत्ते ही ले .

11 .- बडो और बच्चों के दस्त \डायरिया –

दवा —- छोटी दुध्दी डंडीयो समेत सिलबट्टे पर पिस कर रस निकाल ले ,बडो को 3-4 चम्मच दिन में 2-3 बार पिलाये

छोटे शिशुओ को 8-10 बूंद दे .5-6 दिनों में लाभ हो जायेगा

12 .- दस्त में आने वाले आम पाचन हेतु –

दवा —- अजमोद ,पीपल ,धनिया ,सेंधा नमक ,सोंठ जीरा शुद्ध हिंग सभी बराबर-बराबर ले सबको कूट पीसकर

छान के रख ले .यह दवा 2-6 ग्राम की मात्रा में 2-3 बार दही के मट्ठे के साथ दे या भोजन के बाद दे .इस दस्त ठीक

हो जायेगे.

13 .- आमातिसार –

दवा —-अतिस चूर्ण एक ग्राम ,सोंठ चूर्ण 2 ग्राम यह एक समय लेने की मात्रा है इसे अदरक रस 1 चम्मच

,शहद आधी चम्मच के साथ दिन में 3 बार दे .इससे दस्त बंद होकर आंव का पाचन होता है .

14  .-अतिसार प्रवाहिका नष्ट करने हेतु –

दवा — धाय के फुल ,सोंठ ,बेल की गिरी ,मोच रस ,नागर मोथा ,अतिस ,सभी बराबर -बराबर ले कूट -पिस ले

और 20 ग्राम लेकर 300 ग्राम पानी में क्वाथ करे और 40 ग्राम शेष रहने पर छान ले एक मात्रा सुबह शाम दे

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status