Thursday , 20 September 2018
Home » Health » पेट के रोग » संग्रहणी, पेचिश पेट तथा आंतो के रोगो का एक रामबाण इलाज

संग्रहणी, पेचिश पेट तथा आंतो के रोगो का एक रामबाण इलाज

संग्रहणी, पेचिश पेट तथा आंतो के रोगो का एक रामबाण इलाज

ये घरेलु नुस्खा दिखने में जितना साधारण हैं उतना ही ये संग्रहणी, पुरानी पेचिश तथा उदर रोगो में रामबाण की तरह काम करता हैं। जो लोग पेट और आंतो के अनेक रोगो से परेशान हैं वो लोग इस प्रयोग को ज़रूर करे।

सुख आंवला और काला नमक बराबर ले। सूखे आंवले को भिगोकर मुलायम हो जाने पर काला नमक डालकर बारीक़ पीसे और झरबेरी के बराबर गोलियां बनाकर छाया में सुखाकर सावधानी से रख ले। दिन में दो बार भोजन के आधा घंटा बाद ले। इस योग से संग्रहणी तथा पुरानी पेचिश कुछ ही दिनों में ठीक हो जाती है।

विशेष

पेट दर्द में गर्म पानी से एक या दो गोली चूसे। शीघ्र आराम मिलता है।

विकल्प

दो पके केले 125 ग्राम दही के साथ कुछ दिन खाने से आंतो की खराबी ठीक होती है और दस्त, पेचिस, संग्रहणी आदि सर्व अतिसरो में लाभदायक है।

 

8 comments

  1. दूध में हल्दी मिलाकर लेने के क्या फायदे और नुकसान हैं मेरे एक दोस्त की हड्डी टूट गई थी तो उसने आधा चम्मच हल्दी दूध में मिलाकर काफी समय तक लिए उसके पूरे शरीर पर गांठ निकल गई इसका क्या कारण है

    • haldi lene se gaanth nahi nikali hogi… koi aur reason honge.. haldi to wo ek chammach leta hoga.. aur baaki din bhar me kya kya khaate honge un par dhyan dijiye.

  2. plz tell ki pancreas problem ka koi cureable ilaz bataye

  3. Omprakash Tiwari

    Sukha amla or kala namak pet ko theek karane me saksam hai esse pet saaf hokar agni deepan hoti hai

  4. Mai 3 year se bahut preshan bahut dr ko dikha lia but kahi se aram nhi hota h mai khana khane ke bad dard choti aant mai dard or letrin ati kabhi abaj banta kabhi dast ate kabhi grsh tijan mai bahut preshan os kr waja se that bhi jati h or bhi problm muje koi sujao do

  5. Mujhe sangraini ho gyi hai.pet me subha dard rhta hai.khansi bhi rhti hai .or daily migrane type dard hita hai.please koi nuskha btae

  6. Avla suit nahi karta sanghrani hai kya karoo

  7. Irritable bowel syndrome ko hindi ya sanskrit me kya kahte h

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status