Tuesday , 10 December 2019
Home » Health » ulcer » acidity » उल्टियां (वमन :जी मचलाना ) रोग के लिए अनुभूत रोगनाशक नुस्खे लाभ ले

उल्टियां (वमन :जी मचलाना ) रोग के लिए अनुभूत रोगनाशक नुस्खे लाभ ले

उल्टियां (वमन :जी मचलाना ) रोग के लिए अनुभूत रोगनाशक नुस्खे लाभ ले

उल्टियां कई कारण से होती है ,अम्लपित भी उसमे से एक कर्ण हो सकता है यदि अम्लपित के कारण उल्टियां हो

तो अम्लपित को मिटाने की चिकित्सा साथ में करे .

1.- उल्टियां –

दवा —- अविप्तिकर चूर्ण 2 ग्राम और मधुरक्षार 2 रती दिन में 3 बार पानी के साथ दे .

2.- बार -बार आने वाली उल्टियो के लिए –

दवा —- अजवायन का पाउडर आधा चम्मच सुबह खाली पेट ताजा पानी के साथ दे .एक घंटे बाद पानी या अन्य

कोई चीज ना दे और शाम को भी इसी प्रकार  एक खुराख और दे .10 -12 दिनों तक लगातार लेने से उल्टिया बंद

हो जाती है .

3.- खाते ही उल्टियां या खट्टी डकार आना –

दवा —– महाशंख वटी 4 गोली ,सोडा बाई कार्ब 2 रती ये एक मात्रा दवाई है ताजा पानी के साथ दिन में 3 बार

सेवन कराए .एक माह में फायदा हो जायेगा ,

4.- खाने के बाद मुह से भोजन के आलावा पानी या झाग आना –

दवा —- आरोग्य्वर्ध्नी वटी 2 गोली को दिन में दो बार हिम फाँट से दे .

5 .- खाते ही उल्टी होना –

दवा —– एक साबुत इलायची को आग पर जला ले और बीज निकालकर इसमें दो लोंग मिलाकर कूट ले फिर

थोडा शहद मिलाकर चटा दे अनुभूत नुस्खा है.

6 .- बार -बार उल्टी होना पानी भी न पचना –

दवा —- 20 लोंग शहद में पीसकर चटा दे एक घंटे तक कोई तरल पदार्थ न दे उल्टी आने व जी मिचलाने में

तुरंत आराम होगा .बच्चों को 1 व बडो को 2 लोंग दे .

7.- कई वर्षो से खून की उल्टियां ,खून शरीर के किसी भी अंग से आता हो .

दवा —- चने की दाल 21 दाने लेकर खरल में घोट ले ,इसमें गाय का कच्चा दूध थोडा -थोडा डालकर खरल करते

रहे तथा एक कप की मात्रा में दूध डाल दे .यह दूध मीणा मीठा मिलाये ,बिना छाने रोगी को पिला दे दूसरी खुरख

से ही उल्टियां बंद हो जाएगी यह दवा 3 दिनों तक दे .

8.- खाते ही उल्टी होना –

दवा —– मयूरपिच्छ भस्म 2 रती तक शहद के साथ चटाए लाभ होगा .

9.- उल्टियां जो किसी दवा से बंद नही हो रही हो –

दवा —- जहरमोहरा खताई पिष्टी 2 रती ,मयूरपिच्छ भस्म 2 रती ,बड़ी इलायची के बीज 2 रती ये सभी एक

खुराख की मात्रा है शहद से दे लाभ होगा ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status