Wednesday , 19 September 2018
Home » Health » weakness » इन कारणों और कामो को करने से होती है मर्दाना कमजोरी

इन कारणों और कामो को करने से होती है मर्दाना कमजोरी

इन कारणों और कामो को करने से होती है मर्दाना कमजोरी

मर्दाना कमजोरी उस परिस्थिति को कहा जाता है, जब पुरुष का यौ*न अं*ग संबंध बनाने के लिए ऊर्जा नहीं जुटा पाता या बनाए नहीं रख पाता। हर पुरुष अपने जीवन में कभी न कभी इस तरह की समस्या से गुजरता है। नपुं*सक शब्द उन पुरुषों के लिए प्रयोग किया जाता है, जो यौ*न संबंध बनाने के 75 प्रतिशत मौकों पर मर्दाना ताकत बनाए नहीं रख पाते।

दिल के रोगों से:-

दिल के रोगों से मर्दाना कमजोरी का खतरा रहता है। मर्दाना कमजोरी दिल के रोगों का संकेत भी हो सकती है। मर्दाना कमजोरी से पीडित ऐसे पुरुष जिनमें पेल्विक ट्रॉमा और दिल के रोगों के कोई लक्षण नहीं हैं, उन्हें यौ*न कमजोरी का इलाज करवाने से पहले दिल के रोगों की जांच करवा लेनी चाहिए, क्योंकि यौ*न संबंधों से दिल के रोगों का संबंध होता है।

ज्यादा साइकिल चलाने से:-

प्रमुख तौर साइकिल चलाने की वजह से होने वाली मर्दाना कमजोरी साइक्लिंग से जुड़े पेशेवर लोगों में पाई गई है। सप्ताह में तीन घंटे से ज्यादा साइकिल चलाने से मर्दाना रूप से कमजोरी हो सकती है। जो लोग सप्ताह में तीन घंटे से ज्यादा साइकिल चलाते हैं, उन्हें उन्हें झुकी हुई अवस्था में साइकिल चलाना चाहिए न कि सीधे रह कर। एक रिपोर्ट के मुताबिक, 540 किलोमीटर की साइकिल दौड़ में भाग लेने वाले नॉर्वे के एक पुरुष में यह समस्या पाई गई। मर्दाना अंग का सुन्न या असंवेदनशील होना लिं*ग की नसों पर दबाव होने की वजह से होता है, जबकि मर्दाना कमजोरी का कारण यौ*न अंगों की धमनियों में ऑक्सीजन की कमी होता है। शौकिया साइकिल चलाने वाले लोग, जो सप्ताह में तीन घंटे से कम साइकिल चलाते हैं और झुकी हुई अवस्था में साइकिल चलाने वाले लोगों के यौन अंग की नसों और धमनियों पर अनावश्यक दबाव नहीं पड़ता और उन में साइक्लिंग की वजह से होने वाले यौन दुष्प्रभाव की संभावना कम होती है। बिल्कुल सीधे रह कर लगातार साइकिल चलाने से अंग में ऑक्सीजन का बहाव कम हो सकता है, जो 10 मिनट तक कम रह सकता है।

 दवाओं के साइड इफेक्ट से :-

आम तौर पर दी जाने वाली 12 में से आठ दवाओं के साइड इफेक्ट में मर्दाना कमजोरी शामिल है। एक अनुमान के मुताबिक, मर्दाना कमजोरी के 25 प्रतिशत मामले दवाओं के प्रतिकूल प्रभाव की वजह से होते हैं।

जननांगों पर दबाव से :-

जननांगों पर लगातार दबाव या मर्दाना अंग की धमनियों में रक्त का बहाव उचित तरीके से न होने से अंग में असंवेदनशीलता या नपुंसकता हो सकती है।

अवसाद, तनाव से :-

अवसाद, तनाव और इसके इलाज के लिए प्रयोग होने वाली दवाओं के असर से भी मर्दाना कमजोरी हो सकती है।

स्ट्रोक, रीढ़ की हड्डी या पीठ की चोट, मल्टीपल स्क्लेरॉसिस और डिमेंशिया जैसे नाड़ीतंत्र के रोग भी मर्दाना कमजोरी का कारण बन सकते हैं।

पेल्विक ट्रॉमा, प्रोस्टेट सर्जरी या प्रियपिसम से भी यह हो सकती है

इसके अलावा उम्र, मधुमेह, उच्च रक्तचाप, मोटापा, धूम्रपान, नशे का सेवन तथा दिल का रोग भी यौन कमजोरी की वजह बन सकता है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के महासचिव एचसीएफआई के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने यह बात कही।

No comments

  1. Merit umar55 year he muje ab sex may kamjori lagrahi he may sex power badhana chahta hu to aap koi achhi redi made davai batao stamina badha neki discharge ka time lamba ho sake

  2. Hello! M ek company me sales officer ki position p hu or mera pura din bike drive krte hue nikl jata h jiski wjh se mera private part sunn ho jata h kuch time k liye.. Kya iska koi solution h..

  3. Very useful matter

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status