Monday , 24 September 2018
Home » Infertility » PCOS बांझपन Infertility और पीरियड्स में आपकी समस्या दूर कर देगा रसोई में रखा हुआ ये मसाला

PCOS बांझपन Infertility और पीरियड्स में आपकी समस्या दूर कर देगा रसोई में रखा हुआ ये मसाला

pcos आज कल बहुत बुरा रोग बन गया है स्त्रियों के लिए, और ये कम नहीं होगा बल्कि बढेगा, कारण है आज कल अंधाधुन्द कामवासना, फिर उसको दबाने के लिए खायी जाने वाली गोलियां, इन सबके चलते और भी ढेरों कारण हैं, मगर सबसे बड़ा कारण ये बन रहा है. ऐसे में जानते हैं इसके लिए हम क्या कर सकते हैं.

दालचीनी रसोई घर में पाए जाने वाले सामान्य मसालों में से एक है. लेकिन ये सामान्य सा दिखने वाला मसाला महिलाओ में होने वाले जटिल से जटिल प्रजनन तंत्र के रोगों का समाधान करने के लिए अकेला ही काफी है अगर इसे सही मात्रा में उपयोग किया जाये तो ये निमिन्लिखित रोगों को नियंत्रित करने में काफी उपयोगी होगी

  • PCOS ( Polycystic Ovary Syndrome)
  • महावरी के समय अत्याधिक रक्तस्त्राव(Heavy Menstrual Bleeding)

PCOS (Polycystic Ovary Syndrome) home remedy

ये एक प्रकार कि हार्मोनल समस्या है जो मुख्यता  ovaries से  एण्ड्रोजन हारमोंस के सामान्य से ज्यादा निकलने के कारण हो जाती है. जिससे हार्मोनल असंतुलन हो जाता है, इसका महिलाओ में मुख्य कारण insulin resistance  है जिसमे insulin की मात्रा सामान्य से कही ज्यादा हो जाती है जो  हार्मोनल imbalance (estrogen और Progesterone का असंतुलन) कर देते है. Insulin resistance pcos का एक मुख्य कारण माना गया है. इसके साथ साथ दालचीनी गर्भाश्य में रक्त के सर्कुलेशन को बढ़ाता है जो गर्भाश्य को पोषण देता है। PCOS की समस्या में दालचीनी एलोपैथिक दवा Metformin (anti diabetic) की तरह काम करती है मेटफॉर्मिन PCOS एवं PCOS से related बांझपन के इलाज में काम आती है।

दालचीनी हार्मोनल संतुलन बनाकर ओवुलेशन की प्रोसेस को स्टार्ट कर देती है। जिससे प्रेगनेंसी होने के चांस बढ़ जाते है। दालचीनी ब्लड को coagulate करती है। जिसस अत्याधिक रक्त स्त्राव को कंट्रोल किया जा सकता है।

PCOS (Polycystic Ovary Syndrome) के लक्षण

  • अनियमित महावरी (irregular period ) या महावरी के समय अत्याधिक रक्तस्त्राव(Heavy Menstrual Bleeding)
  • बांझपन  (difficult to get pregnant)
  • मुहासे (acne )
  • extra hair growth on body and face

एक study के अनुसार दालचीनी phosphatidylinositol 3-kinase enzyme की कार्यक्षमता को बढाकर insulin resistance को कम करता है. जिससे blood में insulin की मात्रा कम हो जाती है जो कि pcos का मुख्य कारण  है .

इसके अतिरिक्त दालचीनी भोजन की पेट से छोटी आंत तक जाने कि गति को भी कम कर देते है जिससे carbohydrate के टूटने की process धीमी पद जाती है जो diabitis और pcos से ग्रसित महिलाओ के लिए काफी उपयोगी है .

Menstrual problem महावरी के समय अत्याधिक रक्तस्त्राव –

Endometriosis, Uterine Fibroids, Menorrhagia की समस्या के कारण महावरी के समय  होने वाली अत्याधिक रक्तस्त्राव को कम करने के लिए भी दालचीनी का उपयोग किया जा सकता है .

Cinnamon दालचीनी का उपयोग कितनी मात्रा में किया जाए –

PCOS  (Polycystic Ovary Syndrome) Treatment

2 ग्राम दालचीनी पाउडर सुबह और शाम को शहद के साथ लगभग 30 से  48 दिन तक ले.

महावरी के समय अत्याधिक रक्तस्त्राव को रोकने के लिए –

2 gm दालचीनी एक कप गर्म पानी के साथ दिन में एक बार और अगर फिर भी ब्लीडिंग न रुके तो 2 से 3 gm उसी दिन और ले सकते है.

चेतावनी – Warning

गर्भावस्था में अत्याधिक मात्रा में सेवन न करके सिर्फ सब्जी वगैरह बनाने में मसालों में जितना सेवन करते है उतना ही करे

सावधानी –  precaution

जिनके पेट में ulcer या छाले है वो इसके अत्याधिक उपयोग से बचे

दालचीनी रक्त को पतला करती है, इसलिए जो लोग रक्त को पतला करने के लिए दवाई ले रहे है वो इसका उपयोग न करे

विशेष – शहद का सेवन आप मधुमेह में भी कर सकते हैं. इसलिए ये सवाल मत कीजियेगा के शुगर है तो शहद कैसे लें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status