Monday , 19 November 2018
Home » phool » GULAB KA PHOOL » गुलाब के फूल के 14 रोगो में आजमाए हुए स्वास्थ्य वर्धक प्रयोग onlyayurved.com

गुलाब के फूल के 14 रोगो में आजमाए हुए स्वास्थ्य वर्धक प्रयोग onlyayurved.com

गुलाब के फूल के उपयोग

Health Benefits of Rose Flower in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको Health Benefits of Rose Flower in Hindi में बता रहे हैं ।आप सभी जानते हैं की गुलाब बेहद सुंदर और खुशबूदार पौध है, जो अपने इन गुणों की वजह से सभी लोगों को अच्छा लगता है। लेकिन क्या आपको पता है यह पौधा अपने औषधीय गुणों के लिए भी जाना जाता है।आइये जाने विभिन रोगों में गुलाब के फुल के उपयोग और फायदे..

gulab ke phool ke fayde
gulab ke phool ke fayde
  1. कान में दर्द होने पर गुलाब की पत्तियों के रस की थोड़ी बूंदे कान में डालने से कान के दर्द में राहत मिलेगी।
  2. गुलाब के अर्क में नींबू का रस मिलाकर दाद पर लगाने से दाद ठीक हो जाता है।
  3. जी मिचलाना, गले में जलन, सीने में जलन जैसे रोगों को दूर करने के लिए 1 कप गुलाबजल, चैथाई कप संतरे का रस और चौथाई कप चूने का पानी को मिलाकर दिन में 2 बारी सेवन करें आपको इन रोगों से निजात मिल जाएगा।
  4. शरीर में जलन होने पर या हाथ पैर में जलन होने पर गुलाबजल को चंदन में मिलाकर इसका लेप लगाएं।
  5. खाना खाने के बाद गुलकंद खाने से हाजमा ठीक रहता है।
  6. मुंह की बदबू को दूर करने के लिए गुलाब के फूल, लौंग और चीनी को गुलाब जल में पीसकर गोलियां बनाकर चूसें। यह मुंह की दुर्गंध को दूर करता है।
  7. चंदन के तेल में गुलाब के अर्क को मिलाकर मालिश करने से शीत पित्त में फायदा मिलता है।
  8. सनाय की पत्ती को गुलकंद के साथ सेवन करने से कब्ज दूर होती है।
  9. अत्याधिक गर्मी लगने पर या जलन होने पर 5 इलायची, 10 ग्राम गुलाब की पंखुड़ी, 5 काली मिर्च और 10 ग्राम मिश्री को पीसकर हर चार घंटे पर पीएं। आपको आराम मिलेगा।
  10. सफेद चंदन पाउडर में कपूर और गुलाब जल को मिलाकर माथे पर लगाने से सिर का दर्द ठीक हो जाता है।
  11. मुंह के छालों से निजात पाने के लिए सुबह-सुबह गुलकंद का सेवन करें।
  12. लू लगने पर ठंडे पानी में गुलाबजल मिलाकर माथे पर पट्टी रखें।
  13. टीबी की बीमारी से होने वाली कमजोरी को दूर करने के लिए गुलकंद का नियमित सेवन करने से कमजोरी ठीक हो जाती है।
  14. माइग्रेन के दर्द में 12 ग्राम गुलाबजल में 1ग्राम असली नौसादर को मिलाकर अच्छे से मिला कर हिलाएं। और इसकी चार-पांच बूंदे नाक के अंदर खीचें। एैसा करने से माइग्रेन का दर्द ठीक हो जाता है ।

तो मित्रो ये थे Health Benefits of Rose Flower in Hindi.दोस्तों आपने पोस्ट को पूरा पढ़ा इसके लिए आपका धन्यवाद ।अगर  यह पोस्ट आपको अच्छी लगी हो तो इसे शेयर करके अपने मित्रो को  जरुर बताएं।दोस्तों अगर इस  पोस्ट से सम्बंधित आपका कोई सवाल है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status