Tuesday , 25 September 2018
Home » Skin Tags » त्वचा के रोग (चर्म रोग) के लिए एक्यूप्रेशर – Acupressure For Skin Diseases

त्वचा के रोग (चर्म रोग) के लिए एक्यूप्रेशर – Acupressure For Skin Diseases

परिचय- Acupressure For Skin Diseases

इस रोग के कारण व्यक्ति की त्वचा पर कुछ दाने या दाग-धब्बे हो जाते हैं। Acupressure For Skin Diseases

लक्षण- Acupressure For Skin Diseases

त्वचा के रोगों में शरीर की त्वचा पर खुजली मचने लगती है और जब व्यक्ति त्वचा पर खुजली करता है तो वहां पर छोटे-छोटे दाने निकल आते है। इन दानों के कारण त्वचा पर जलन होने लगती है। कभी-कभी शरीर की त्वचा पर दाग-धब्बे से हो जाते हैं जो देखने में बहुत ही बुरे लगते है। त्वचा से सम्बंधित कई प्रकार के रोग है जैसे- दाद, खुजली, सफेद दाग, शरीर का सांवला पड़ना, फोड़े-फुन्सियां, खाज, घाव तथा त्वचा का रूखा हो जाना आदि। Acupressure For Skin Diseases

कारण- Acupressure For Skin Diseases

त्वचा के रोग अधिकतर शरीर की ठीक प्रकार से सफाई न करने के कारण होते हैं। शरीर में विटामिन `सी´ की कमी के कारण भी त्वचा के रोग हो सकते हैं। शरीर में पाए जाने वाले खून में किसी प्रकार की खराबी आ जाने के कारण या कब्ज के कारण भी यह रोग हो सकता है। Acupressure Skin Diseases

एक्यूप्रेशर चिकित्सा के द्वारा त्वचा के रोगों का उपचार- Acupressure For Skin Diseases

त्वचा के रोगों में शरीर की त्वचा पर खुजली मचने लगती है और जब व्यक्ति त्वचा पर खुजली करता है तो वहां पर छोटे-छोटे दाने निकल आते है(प्रतिबिम्ब बिन्दु पर दबाव डालकर एक्यूप्रेशर चिकित्सा द्वारा इलाज करने का चित्र) Acupressure For Skin Diseases

इस चित्र में दिए गए एक्यूप्रेशर बिन्दु के अनुसार रोगी के शरीर पर दबाव देकर त्वचा के रोगों का उपचार किया जा सकता है। रोगी को अपना इलाज किसी अच्छे एक्यूप्रेशर चिकित्सक की देख-रेख में कराना चाहिए क्योंकि एक्यूप्रेशर चिकित्सक को सही दबाव देने का अनुभव होता है और वह सही तरीके से त्वचा के रोग से पीड़ित रोगी का उपचार कर सकता है। Acupressure For Skin Diseases

यदि इस रोग का इलाज सही ढंग से न किया जाए तो यह पूरे शरीर में फैलने लगता है। इस रोग से पीड़ित रोगी को अपने भोजन में विटामिन `सी´ की मात्रा वाले पदार्थों का अधिक उपयोग करना चाहिए तथा अपने खून को साफ करने के लिए उपाय करना चाहिए। इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को खट्टे फल, मछली, कच्चे दूध, दही तथा छाछ आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।  Acupressure Point For Skin Diseases

इस रोग का एक्यूप्रेशर चिकित्सा से उपचार करने के साथ-साथ अपने भोजन में विटामिन `सी´ की मात्रा का अधिक उपयोग करना चाहिए। यदि त्वचा सूखी पड़ गई हो तो भोजन में मूंगफली और तिल का अधिक प्रयोग करने से बहुत लाभ होता है। Acupressure Point For Skin Diseases

One comment

  1. sirji bahut khub likha hai.. thanks for these great information..

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status