Wednesday , 14 November 2018
Home » VARIOUS » ajab ghazab » सुपर स्पेशलिटी फोर्टिस हॉस्पिटल का हाल.

सुपर स्पेशलिटी फोर्टिस हॉस्पिटल का हाल.

सुपर स्पेशलिटी फोर्टिस हॉस्पिटल का हाल.

super specialty fortis hospital me galat pair ka operation

अगर आपका दाया पाँव फ्रैक्चर हो जाए और आप इलाज करवाने के लिए शहर के सबसे बड़े हॉस्पिटल में जाएँ ये सोच कर के यहाँ पर पढ़े लिखे डॉक्टर्स आपका सही इलाज करेंगे, और हॉस्पिटल का स्टाफ आपको ऑपरेशन थिएटर में ले जा कर आपको बेहोश कर के आपके दायें पाँव की जगह बाएं पाँव का ऑपरेशन कर दे तो….

बिलकुल ऐसा ही हुआ है दिल्ली निवासी रवि राज के साथ, जिनकी आयु मात्र 24 साल थी, वो रविवार को सीढियों से गिर गए जिस से उनके  दायें पाँव में फ्रैक्चर हो गया, तो परिवारजन उसको तुरंत सुपर स्पेशलिटी फोर्टिस हॉस्पिटल में ले गए, फिर वहां पर जो हुआ उस पर विश्वास करना नामुमकिन लग रहा है.

रवि राज को जब दिल्ली के फोर्टिस जैसे हॉस्पिटल में भरती करवाया गया तो वहां पर वो सब हुआ जो एक सुपर स्पेशलिटी में होता है, अर्थात पूरी जांच, अक्स रे वगैरह, ये सब होने के बाद डॉक्टर्स ने कहा के रवि राज की दायें पाँव की एड़ी में फ्रैक्चर है और इसमें ऑपरेशन की सहायता से वो इसको फिर से बिलकुल सही कर देंगे और ऐसा करने के लिए उनके पास बहुत ही बेहतर स्टाफ उपलब्ध है. ऐसे में रवि राज ऑपरेशन करवाने के लिए तैयार हुए, ऑपरेशन के बाद जब उनको होश आया तो उनके होश फिर से उड़ गए. रवि राज ने देखा के फ्रैक्चर तो दायें पाँव की एडी में था, मगर डॉक्टर्स ने उसके बाएं पाँव का ऑपरेशन कर दिया.

छोटी सी गलती तो हुई है.

हॉस्पिटल मैनेजमेंट का कहना है के ये सिर्फ एक माइनर सी गलती है वो इसके सुधार के लिए अभी रवि राज के  दायें पाँव का ऑपरेट कर देंगे. मगर रवि राज के परिवार वालों को अब उन हॉस्पिटल वालों पर भरोसा नहीं है. और वो रवि राज को दुसरे हॉस्पिटल में इलाज के लिए ले गए हैं.

हे भगवान् अब इनका कोई क्या करे. ये तो वही बात हुयी, नाम बड़े और दर्शन छोटे. एलॉपथी में मरीज तो सबके लिए सिर्फ हलाल होने वाला बकरा है. पता नहीं यहाँ मरीजों के साथ क्या होता होगा. भगवान् बचाए ऐसे पढ़े लिखे बेवकूफ लोगों से.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status