Wednesday , 19 September 2018
Home » Health » arthritis - joint pain » Rheumatism Root करेगी गठिया Rheumatoid Arthritis का सफल इलाज

Rheumatism Root करेगी गठिया Rheumatoid Arthritis का सफल इलाज

Dioscorea for Rheumatoid Arthritis

रूमेटाइड अर्थराइटिस ( Rheumatoid Arthritis ) को हड्डियों के जोड़ों से संबंधित बीमारी माना जाता है, रूमेटाइड अर्थराइटिस (संधिवात) एक स्व-प्रतिरक्षक विकार (जिसमें आपका रोग प्रतिरक्षक तंत्र, किसी विकृति के कारण, अपने ही शरीर के ऊतकों पर आक्रमण करने लगता है) है। इसमें दर्द, जकड़न, सूजन और जोड़ों की सीमित गति और कार्यक्षमता हो जाती है। अधिकतर यह हाथों और पैरों के छोटे जोड़ों को प्रभावित करता है।


आमतौर पर यह 40 वर्ष की आयु के बाद शुरू होता है, किन्तु ये किसी भी उम्र में हो सकता है। ये विकार महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा अधिक आम है। इस लेख में विस्‍तार से जानिये Dioscorea रूमेटाइड अर्थराइटिस को कैसे प्रभावित करती है और इससे किस तरह बचाव किया जा सकता है। Dioscorea for joint pain in hindi, Rheumatoid Arthritis treatment in ayurveda

[ ये भी पढ़िए सफ़ेद दाग का इलाज Safed daag ka ilaj ]

[ ये भी पढ़िए bawasir ka ilaj बवासीर का इलाज ]

आज हम only ayurved में एक ऐसी औषधि के बारे में चर्चा करने जा रहे है जिसे Rheumatism Root के नाम से जाना जाता है . इसे औषधि को यह नाम इस लिए दिया गया है क्योकि यह  रूमेटाइड अर्थराइटिस के इलाज में बहुत ही कारगर है ।

Dioscorea for joint pain in hindi

Dioscorea के विविध नाम और कहाँ पाया जाता है

Rheumatism Root का सामान्य नाम Dioscorea ,

Botanical Name :Dioscorea deltoidea

Common Name: Wild Yam

Hindi: Shingli-mingli, Baniatakari, Harvish, Janj, Jung kinch

Nepali Name: Bhyakur tarul

वैज्ञानिक नाम Dioscorea Delitoidea है

Dioscoreaceae जो की Dioscorea परिवार से है यह भारत में पंजाब, कश्मीर, हिमालय, हिमाचल प्रदेश, आसाम , बंगाल, मध्यप्रदेश, तमिलनाडु, वडोदरा में भी इस की कई प्रजातियां पी जाती है जिन के औषधीय गुण लगभग सामान ही होते है । Dioscorea for joint pain in hindi

[ ये भी पढ़िए कैंसर का इलाज Cancer ka ilaj ]

Dioscorea के रासायनिक संगठन / Chemical Composition of Dioscorea

मुख्य रूप से Dioscorea में Diosgenin, Stgmasterol and Sapogenins पाए जाते है ।

Rheumatism Root  रूमेटाइड अर्थराइटिस  में कैसे कार्य करता है ।

इस के अन्दर पाया जाने वाला रसायन Diosgenin कई प्रकार के Steroidal Harmone बनाने का कार्य करता है, और Testosterone Harmone और अन्य Anabolic ( मस्सल मांस बनाने वाला ) भी बनता है जिस से शारीर के अंदर मस्सल मांस बढ़ता है, और साथ ही इस में पाया जाने वाला  Stgmasterol दर्द और सुजन को कम करता है, Stgmasterol Vitamin D3 बनाने में भी सहायक होता है जिस से हड्डिया मजबूत होती है । Dioscorea for joint pain in hindi

अब यदि आप का मस्सल मांस बनने  लगेगा और दर्द एवं सुजन भी कम हो रही है साथ ही Vitamin D3 भी पर्याप्त मात्रा बन रहा है में तो शारीर में Calcium का अवशोषण भी अच्छी तरह से होने लगेगा जिस रूमेटाइड अर्थराइटिस की समस्या धीरे धीरे समाप्त होने लगेगी । Dioscorea for joint pain in hindi

Rheumatism Root का इस्तेमाल Rheumatoid Arthritis में कैसे करे।

Dioscorea for joint pain in hindi

Dioscorea की जड़ और इस का प्रकंद ( Rhizome ) को सुखा कर पाउडर बना कर एक काँच की शीशी में भर कर रख ले  अब इस का 2 ग्राम से 6 ग्राम पावडर को  50 ML से 100 ML पानी में  उबाले और जब यह आधा रह जाये तो इस का  5 ml से 10 ml दिन में तीन से चार बार खाना खाने के 1 घंटे के बाद सेवन करें आप को अवश्य लाभ मिलेगा ।

Dioscorea for joint pain in hindi, joint pain home remedies,  Rheumatism Root for Rheumatoid Arthritis, Rheumatoid Arthritis, Rheumatoid Arthritis ka ilj,

Joint Rebuilder – घुटनों का दर्द, कमर का दर्द, सर्वाइकल, साइटिका या स्लिप डिस्क सबकी रामबाण दवा

दूसरा इलाज

सामग्री

  • नमक- २ ग्राम
  • जीरा- २ ग्राम
  • हींग- २ ग्राम
  • पीपल- २ ग्राम
  • काली मिर्च- २ ग्राम
  • सौंठ- २ ग्राम

दवाई बनाने की विधि :

  • गठिया के रोग में लहसुन बेहद लाभकारी होता है। इसके सेवन से गठिया के रोग में आराम मिलता है। वैसे अगर इसे खाना पसंद न हो तो इसमें सेंधा नमक, जीरा, हींग, पीपल, काली मिर्च और सौंठ की सभी की 2 – 2 ग्राम मात्रा लेकर अच्‍छे से पीस लें।
  • इस पेस्‍ट को अरंडी के तेल में भून लें और बॉटल में भ लें। दर्द होने पर लगा लें। आराम मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status