Wednesday , 18 July 2018
Home » Health » पेट के रोग » भारीपन जलन अरुचि » पेट में भारीपन जलन अरुचि होने पर कीजिये ये आसान उपाय।

पेट में भारीपन जलन अरुचि होने पर कीजिये ये आसान उपाय।

पेट में भारीपन जलन अरुचि होने पर कीजिये ये आसान उपाय।

पेट में भारीपन के नुस्खे।

    1. चने का क्षार 2 से 6 रत्ती अथवा प्रभावी क्षार 5 से 10 बूँद दो तीन बार दो दो घंटे पर लेने से पेट का भारीपन मिटता हैं।
    2. बैंगन को अंगारो पर सेंककर उसमे सज्जीखार मिलकर पेट पर बाँधने से पेट के भारीपन का शमन होता हैं।
    3. द्राक्ष और सौंफ दो दो तोला लेकर आधा लीटर पानी में भिगोकर रख दीजिये, सुबह उसे मसल और छान कर तथा उसमे एक तोला शक्कर मिलाकर कुछ दिनों तक पीने से पेट का भारीपन दूर हो जाता हैं।

 पेट की जलन के नुस्खे।

      1. अजवायन और नमक पीसकर उसकी फंकी लेने से पेट की जलन का शमन होता हैं।
      2. धनिया और जीरा 10-10 ग्राम ले कर उनको अधकुटा कर लीजिये और 250 मि ली पानी में रात को भिगो कर रख दीजिये, सुबह उसे मसल छानकर तथा उसमे शक्कर डालकर 4-6 दिन तक पीने से पेट की जलन शांत होती हैं।
      3. धनिया और शक्कर का शरबत बनाकर पीने से भी पेट की जलन दूर हो जाती हैं।
      4. अजवायन को तवे पर भूनकर उसमे समभाग में सेंधा नमक मिलकर चूर्ण बना ले, तीन ग्राम की मात्रा में ये चूर्ण गर्म पानी के साथ लेने से पेट की जलन मिटती हैं।

अरुचिनाशक नुस्खे।

      1. 20 तोला अदरक छीलकर उसकी चटनी बनाइये, फिर उसे 20 तोला घी में भूनिये, जब वह लाल हो जाए, तब उसमे 40 तोला गुड डालकर हलवे जैसा गाढ़ा अवलेह बनाइये, एक एक तोला इस अवलेह को सुबह शाम प्रतिदिन खाने से अरुचि विकार दूर होता हैं और भूख खुलकर लगती हैं।
      2. नीम्बू का रस एक भाग और शक्कर 6 भाग चासनी लेकर उसमे लौंग और काली मिर्च का थोड़ा सा चूर्ण मिलाकर, शरबत बना कर पीने से अरुचि का शमन होता हैं।
      3. सौंठ एक तोला, काली मिर्च एक तोला, पीपरी एक तोला और सेंधा नमक एक तोला, इन सभी को कूटकर कपडे से छानकर चूर्ण बनाइये, उसमे ४० तोला काली द्राक्ष बीज (बीज निकली हुई) मिलाइये, इसे चटनी की तरह पीसकर किसी कांच के बर्तन में भरकर रख ले। इस अवलेह को प्रतिदिन आधे से दो तोले तक सुबह शाम सेवन करे। ये अरुचिनाशक तो हैं ही, साथ ही अन्य पेट के विकारो का शमन करता हैं।

 

2 comments

  1. muje rat me jb tak nind na lage har 5 mint me peshab hota hai .. is ka illaj btaye

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status