Tuesday , 25 September 2018
Home » Health » पेट के रोग » गैस और कब्ज » स्वस्थ रहने की पहली शर्त है अच्छी पाचन शक्ति ! जाने, शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत करने के कारगर उपाय..!!

स्वस्थ रहने की पहली शर्त है अच्छी पाचन शक्ति ! जाने, शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत करने के कारगर उपाय..!!

स्वस्थ रहने की पहली शर्त है अच्छी पाचन शक्ति ! जाने, शरीर के पाचन तंत्र को मजबूत करने के कारगर उपाय..!!

मेटाबोल्जिम बढ़ाने के तरीके/ how-to-increase-metabolism-rateएक कहावत है ‘पहला सुख निरोगी काया।’ स्वस्थ शरीर स्वस्थ दिमाग के निर्माण में सहायक होता है। स्वस्थ रहने की पहली शर्त है आपकी पाचन शक्ति का सुदृढ़ होना। भोजन के उचित पाचन के अभाव में शरीर अस्वस्थ हो जाता है, मस्तिष्क शिथिल हो जाता है और कार्यक्षमता को प्रभावित करता है। जिस प्रकार व्यायाम में अनुशासन की आवश्यकता होती है, ठीक उसी प्रकार भोजन में भी अनुशासन महत्वपूर्ण है। अधिक खाना, अनियमित खाना, देर रात तक जागना, ये सारी स्थितियां आपके पाचन तंत्र को प्रभावित करती है।

पाचन तंत्र हमारे शरीर का महत्वपूर्ण अंग है। यह हमारे भोजन को पचाता हैं एवं उसमें से मिले पौष्टिक तत्वों को शरीर को प्रदान करता है। यही सार तत्व हमारे सर्वांग के काम आता है इसलिए पाचन तंत्र का सदैव सही रहना आवश्यक होता है। सुबह सवेरे अच्छे से पेट साफ होना, हेल्थी होने की सबसे बड़ी निशानी है।

अत: यह आवश्यक हो जाता है कि पाचन शक्ति को दुर्बल होने से बचाएं। पाचन तंत्र की दुर्बलता दूर करने के कुछ घरेलू उपाय यहां दिए जा रहे हैं, जिनके प्रयोग से निश्चय ही काफी लाभ होगा।

पाचन शक्ति बढ़ाने के घरेलु  उपाय / how to improve indigestion

1.खाना सही तरीके से खाए-

भोजन के बाद अपच की परेशनी से बचने के लिए खाना खाने का सही तरीका अपनाये। खाना खाने से पहले फल खाए उसके बाद जटिल भोजन करे इस तरह से आप ज्यादा खा पाएंगे और पाचन समस्याओं से बचे रहेगें।

2.फाइबर से भरपूर आहार-

फाइबर से भरपूर आहार जैसे साबुत अनाज, सब्जियां, फलियां और फल पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते है। रेशेदार खाद्य पदार्थ पचाने में आसान और कब्ज को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा, उच्च फाइबर आहार विभिन प्रकार की पाचन संबंधी समस्‍याएं जैसे डिवैर्टिकुलोसिस, हेमोर्रोइड्स और इर्रिटेबल बॉउल सिंड्रोम को कम करता है। फाइबर के कुछ बेहतरीन स्रोत गेहूं की भूसी, सब्जियों, जई, नट, बीज और फलियां हैं।

3.पपीता-

पपीता यदि आप 24 घंटे के अंदर ही अपने पाचन को सुधारना चाहते हैं तो कच्चा पपीता आपके लिए अच्छा है। यदि आंत की कमजोरी के कारण आप में विटामिन्स का संचय नहीं होता है तो आप इससे विटामिन सी प्राप्त कर सकते हैं। इसमें पपाइन होता है जो कि प्रोटीन को विभाजित करता है और खाने को पाचन योग्य बनाता है।

4.गर्म पानी पिएं-

भोजन पचाने में परेशानी हो रही हो तो गर्म पानी पिएं । सुबह गर्म पानी पीने और भोजन से पहले कम से कम तीस मिनट पहले पानी पीने से पाचन तंत्र साफ रहता है।

5.नाशपती-

नाशपाती पेट के लिए अच्छा फल है जिसे आप सप्ताह में एक बार खा सकते हैं। हाल ही में हुये अध्ययन के अनुसार नाशपती में फाइबर होता है जिससे दस्त साफ लगता है। नाशपती सोडियम फ्री, कोलेस्ट्रॉल फ्री और फैट फ्री होती है और 190 मिलीग्राम पोटेशियम होता है जो कि पाचन को मजबूत करता है।

6.अच्‍छी तरह चबाकर खायें-

पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए यह कदम बहुत लाभकारी हो सकता है। क्‍योंकि जल्‍दबाजी से भोजन करने से वह आसानी से पचता नहीं है। आमतौरलोग खाने के टुकड़े को 8-10 बार चबाते हैं जबकि खाने को कम से कम 30-35 बार चबाकर खाना चाहिए। इससे पाचन शक्ति मजबूत होती है।

7.केला-

केला यह आपके आंतों के कार्य को सही बनाए रखता है, आप इसे खाना खाने के बाद या पहले कभी भी खा सकते हैं। दोनों ही तरीकों से यह आपके पेट के लिए फायदेमंद है।

8.नियमित व्‍यायाम-

व्‍यायाम न केवल स्‍वस्‍थ वजन संतुलित बनाये रखने में मदद करता है बल्कि यह चयापचय को गति और पाचन तंत्र को भी दुरुस्‍त रखता है। इसलिए रोज व्‍यायाम के लिए कम से कम 30 मिनट का समय जरूर निकालें। तेज चाल, दौड़ना, साइकिल चलाना और तैराकी व्यायाम के कुछ आसान तरीके हैं।

9.विटामिन सी युक्‍त आहार खायें-

विटामिन सी युक्‍त खाद्य-पदार्थों के सेवन से भी पाचन शक्ति मजबूत होती है। इसलिए पाचन तंत्र को दुरुस्‍त बनाने के लिए अपने आहार में विटामिन सी युक्त आहार जैसे – ब्रोकोली, टमाटर, किवी, स्‍ट्रॉबेरी आदि का सेवन करें।

10.आंवले का सेवन-

पकाए हुए आंवले को पीस के उसमे स्वादानुसार काली मिर्च, सौंठ, सेंधा नमक, भुना जीरा और हींग मिलाकर बड़ी बनाकर छाया में सुखा लें. अब इन बड़ियों का सेवन अपने भोजन में शामिल करे. इसके सेवन से पाचन विकार दूर हो जाता है तथा भूख बढ़ती है.

11.इलायची का सेवन-

इलायची का सेवन करने से हमारे शरीर की अनेक परेशानियां दूर हो जाती हैं. इलायची के बीजों के चूर्ण में बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर दिन में 2-3 बार 3 ग्राम की मात्रा में सेवन करने से गर्भवती स्त्री के पाचन विकार दूर हो जाते हैं तथा खुलकर भूख लगती है.

12.निम्बू का उपयोग-

एक कप पानी में 5-6 काली मिर्च का चूर्ण तथा आधा नींबू निचोड़कर इन्हे मिला ले तथा इसका सेवन सुबह-शाम भोजन के बाद करे. इसे पीने से पेट की वायु, उर्द्धवात, बदहजमी, विषमाग्नि जैसी शिकायतें दूर होकर पाचन शक्ति प्रबल होती है.

13.सलाद का सेवन-

खाने को सही से पचाने के लिए खाने में सलाद का प्रयोग करें. सलाद में टमाटर, काला नमक और नीबू का सेवन करना फायदेमंद रहेगा. इन तत्वों में भरपूर मात्रा में पौष्टिकता पाई जाती हैं.

4 comments

  1. Hamko Mahino se 4 spoon latring ho raha hai kaya kare liver problem hai kaya

  2. Mere body me barambar skin allergies aajate hai kya karu. Mai allergy se parisan Hu.

  3. पाचन किया खराब है कोई उपाय,,,

  4. Sir, mera pet Sam KO rojana dard hota he. Eay sirf winter seasion pe hota he or subhe Thick se toilet nehi hota hé. Ta me kya karu kuch upaya bataye

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status