Wednesday , 19 September 2018
Home » Health » weakness » महिला एवं पुरुष के दुबलेपन का इलाज अश्वगंधा का तेल – बनाने की विधि एवं अन्य नुस्खे !!

महिला एवं पुरुष के दुबलेपन का इलाज अश्वगंधा का तेल – बनाने की विधि एवं अन्य नुस्खे !!

कृशता या दुबलेपन का इलाज अश्वगंधा का तेल

मनुष्य के दुबले पतले होने के कई कारण है जिन में से मुख्य कारण है

वायु , रुखा अन्नपान , लंघन, कम खाना , वमन – विरेचन का अति योग ,शोक करना , मुत्रादी वेग करना, निंग को रोकना, सादा रोगी रहना, नित्य मैथुन करना, नित्य कसरत करना, थोडा भोजन मिलना, किसी तरह का दर रहना, और धन वगरह की चिंता करना.

अत्यंत कृशता या दुबलेपन में कुछ रोग जो व्यक्ति को जल्दी पकड लेते है : 

अत्यंत दुबले आदमी को तिल्ली श्वास, खांसी, गोला , बवासीर, उदार रोग, परभृति, व्यादिया, दौड़ कर पकडती है कोई कोई  कृश या दुबले आदमी अत्यंत बलवान भी होते है  .

कार्श्य – रोग या दुबलेपन की घरेलु चिकित्सा

जो मनुष्य रूखे अन्न पानो से दुबला हुआ हो उसे बलदायक धातुओ को पुष्ट करने वाली मैथुन में रूचि करने वाली और बाजीकरण औषधियाँ देनी चाहिए अथवा 15 दिन तक दूध के साथ घी के साथ अथवा तेल के साथ अथवा गरम जल के साथ अश्वगंधा का चूर्ण पिलाना चाहिए. जिस तरह जल की वृष्टि से धान्यो की पुष्टि होती है उसी तरह इस नुस्खे से शारीर की पुष्टि होती है .

कृशता या दुबलेपन का इलाज अश्वगंधा का तेल बनाने की विधि

पावर भर अश्वगंध को पानी के साथ पत्थर पर पीसकर लुगदी बना लो फिर दो किलो अश्वगंध को 16 किलो पानी में उबालो जब चौथाई पानी रह जाए उसे मलकर छान लो अब एक किलो तेल, लुगदी, काढ़े और चार किलो गाय के दूध को मिलाकर तेल में पकाओ मात्र तेल रह जाने पर उतारकर छान लो इसका नाम अश्वगंधा तेल है इसकी मालीश से शरीर की पुष्टि हो जाती है

दूसरा नुस्खा 

अश्वगंधा काली मूसली और सफेद मूसली समान समान मात्रा में लेकर गाय के दूध में पकाओ जब दूध सूख जाए चूर्ण सा हो जाए उसे पीसकर उसमें बराबर की मिश्री या चीनी मिला लो अब इस में से एक या दो तोले दवा गाय के दूध के साथ खाने से शरीर की पुष्टि होती है यह दवा औरतों के लिए ज्यादा मुफीद है.

तीसरा नुस्खा 

दूध के साथ रोटी खाने से दुबला शरीर मोटा होता है

चौथा नुस्खा

मीठे बादाम की गिरी निशास्ता , कतीरा और मिश्री बराबर-बराबर मिलाकर रख लो इसमें से एक तोले भर के दूध के साथ खाने से शरीर मोटा एवं तंदरुस्त होता है. 

पांचवा नुस्खा

काली मिर्च तीन तोले 4 मासे, सौठ तीन तोले 4 मासे, पीपर 10 तोले, छिले हुए तिल 17 तोले और अखरोट की गिरी 17 तोले, इन सब को पीस कर छान कर रख लो फिर दो किलो चीनी की चासनी पकाओ इस चासनी में इन दवाओ को डाल कर उतर लो जब चासनी ठंडी हो जाये उस में पाव भर शहद मिला लो और रख दो इस में से चार मासे दवा खाने से शारीर खूब बढ़िया तैयार होता है

यह से Only Ayuved द्वारा सुझाये हुए कुछ बहरीन आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे जिन से आप अपने दुबले पतले और कमजोर शारीर को हष्टपुष्ट तगड़ा, मोटा एवं बलवान .

जनकारी शेयर अवश्य करें  

dublepan ka ilaj, patlepan ka ilaj, mota hone ki dawa, पतलेपन का इलाज, मोटे होने की दवा,अश्वगंधा का तेल, ashvgandha ka tel,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status