Wednesday , 18 July 2018
Home » teeth problems » crooked teeth » पूरी दुनिया में दांतों के लिये इन हर्ब्स ( Herbs ) से बढकर कुछ नहीं !! Worlds best Herbs for Teeth and gum

पूरी दुनिया में दांतों के लिये इन हर्ब्स ( Herbs ) से बढकर कुछ नहीं !! Worlds best Herbs for Teeth and gum

केमिकल युक्‍त टूथपेस्‍ट या फिर गलत खानपान की वजह से दांतों में सड़न, दर्द और मसुडो में सुजन, मसुडो में खून  के अलावा तमाम तरह की समस्‍या हो जाती है। दांतों को इस खतरे से बचाने के लिए आपको कुछ प्राकृतिक नुस्खों को आजमाना चाहिए। ये नुस्खे न सिर्फ आपके दांतो को चमकदार बनाते हैं बल्कि यह कई तरह की दांत संबंधी गंभीर समस्याओं से निजात दिलाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। नीम, बबूल और तुलसी ऐसे ही कुछ सुलभ हर्बल नुस्खे हैं। आज हम इन तीनों के दांतों को लेकर होने वाले लाभ के बारे में चर्चा करेंगे।

तुलसी

1: दांतों के लिए तुलसी के अनेक फायदे हैं। अगर आपके दांतों में पीलापन है तो तुलसी के पत्तों को धूप में सुखाकर पाउडर बना लें।
2: इसके पाउडर को टूथपेस्ट में मिलाकर ब्रश करने से दांतों में चमक आ जाती है।
3: इसके अलावा संतरे के छिलके और तुलसी के पत्तों को सुखाकर पाउडर बना लें।
4: रोजाना ब्रश करने के बाद इस पाउडर से दांतों की मसाज करें। इससे दांतों का पीलापन दूर हो जाएगा।

1/4 cup of fresh tulsi leaves (six grams) includes the following ( listed in recommended daily values)

  • 1 calorie
  • No cholesterol
  • 0.2 grams of sodium
  • 0.2 grams of carbohydrates
  • 31 percent vitamin K
  • 6 percent vitamin A
  • 2 percent vitamin C
  • 3 percent manganese
  • 1 percent folate
  • 1 percent calcium
  • 1 percent potassium
  • 1 percent magnesium

 

नीम

1: नीम की पत्तियां जहां संक्रमणरोधी होती हैं वहीं नीम के दातुन दांतो के लिए एक वरदान की तरह होते हैं।
2: दांतों में किसी भी प्रकार की तकलीफ हो नीम के दातुन के पास उन सबका इलाज मौजूद होता है।
3: मुंह की दुर्गंध भी आजकल लोगों की एक अहम समस्या है। दांतों पर तथा मुंह में मौजूद तमाम तरह के बैक्टीरिया ही मुंह की बदबू के सबसे बड़े कारक होते हैं। ऐसे में नीम का दातुन इन सभी बैक्टीरिया को खत्म करने में काफी लाभकारी होता है।
4: नीम के दातुन से दांत काफी मजबूत होते हैं। साथ ही साथ उनमें कोई भी रोग लगने की संभावना लगभग खत्म हो जाती है।

Neem has been extensively used in Ayurveda, Unani and Homoeopathic medicine and has become a cynosure of modern medicine. Neem elaborates a vast array of biologically active compounds that are chemically diverse and structurally complex. More than 140 compounds have been isolated from different parts of neem. All parts of the neem tree- leaves, flowers, seeds, fruits, roots and bark have been used traditionally for the treatment of inflammation, infections, fever, skin diseases and dental disorders. The medicinal utilities have been described especially for neem leaf. Neem leaf and its constituents have been demonstrated to exhibit immunomodulatory, anti-inflammatory, antihyperglycaemic, antiulcer, antimalarial, antifungal, antibacterial, antiviral, antioxidant, antimutagenic and anticarcinogenic properties.

 

बबूल

1: अगर आपके मसूढ़ों से खून आता हो तो बबूल की छाल का काढ़ा बनाएं और उससे रोज तीन बार कुल्ला करें। यह अक्सर दांतों में कीड़े लग जाने की वजह से होता है।
2: अगर आपके दांत सड़ रहे हैं तो बबूल की छाल के काढ़े से कुल्ला करें।
3: बबूल की छाल, उसकी पत्ती, फूल और फलियों की बराबर मात्रा लेकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण से रोजाना मंजन करने से दांतो के सभी रोग दूर हो जाते हैं।

Teeth and gums

Major chemical Constituents:
The bark and pods contains 12-20% of tannin. Several polyphenolic compounds have been reported from the bark and pods of the plant Acacia nilotica. The gum resin of the plant contains galactose, aldobio uronic acid and arabinobioses.  It also contains about 52% of calcium and 20% of magnesium. The flowers contain flavonoids- kaempferol-3-glucoside, iso-quercitrin and leucocyanidin.

Baboo treel is also beneficial for the health of teeth and gums. In ancient times the branches of babool tree was used by people to brush teeth. Even today many rural and tribal people use babool branches to brush teeth. Babool gives strength to gums and reduces plaque. It also gives freshness to breath.

Balool is also beneficial in protecting us from throat related problems like cold and cough. Gum of babool is frequently used by herbalists to cure sore throat.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

DMCA.com Protection Status